• http://www.facebook.com/AshokGehlot.Rajasthan
  • http://blog.ashokgehlot.in
  • http://www.youtube.com/user/GehlotAshok
  • https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ashokgehlot.app#?t=W251bGwsMSwyLDIxMiwiY29tLmFzaG9rZ2VobG90LmFwcCJd

पचपदरा बाड़मेर में रिफाइनरी का शिलान्यास में माननीय श्री अशोक गहलोत, मुख्यमंत्री का भाषण


परम आदरणीय यूपीए चेयरपर्सन श्रीमती सोनिया गांधीजी, श्री वीरप्पा मोइली जी, श्रीमती पनाबा लक्ष्मी जी, हमारे प्रभारी श्री गुरूदास कामत जी, प्रदेशाध्यक्ष डॉ0 चन्द्रभान जी, सांसद श्री हरीश चौधरी, हमारे मंत्री श्री राजेन्द्र पारीक, उपस्थित सांसदगण, विधायकगण, उपस्थित हमारे बुजुर्गों, भाइयों, बहनों और नौजवान साथियों। आज यहां पर पचपदरा में जो सैलाब उमड़ पड़ा है, उससे लगता है कि आज एक नया इतिहास यहां रचा जायेगा सोनिया गांधीजी द्वारा, मैं इनका आप सब की ओर से, पूरे प्रदेशवासियों की ओर से हार्दिक स्वागत करता हूं, इनका अभिनन्दन करता हूं।

हमें फख्र है कि ऐसी नेता हमें मिली हैं जिनका राजस्थान के प्रति बहुत लगाव है। अकाल में, सूखे में, सुख-दुःख में हमेशा हमारे साथ खड़ी रहीं। अभी थोड़े दिन पहले ही बाड़मेर आई थीं जब इंदिरा गांधी कैनाल का पानी बाड़मेर पहुंचा। अभी नागौर में उन्होंने पानी की योजना का शिलान्यास किया। उसके बाद 1320 मेगावाट पॉवर प्लांट का शिलान्यास किया।



इस तरह जब कभी अवसर मिलता है सोनिया जी हमारे बीच में आती हैं। इसलिये हमें इस बात का गर्व है कि वह महान नेता आज इस काम के लिये आई हैं, जो रिफाइनरी का सपना साकार होगा पूरे प्रदेशवासियों का। आज उसकी नींव रखेंगी और 4.5 मिलियन टन की नहीं, 9.0 मिलियन टन की विद पेट्रो कैमिकल भी लगेगी। इसलिये हमें गर्व है कि इनके आशीर्वाद से काम सम्पन्न हुआ। इनका 4-5 साल से लगातार आशीर्वाद मिला। इनकी प्रेरणा से मैं प्रयास करता रहा, चाहे वह हमारे मुरली देवड़ा जी हो, चाहे जयपाल रेड्डी जी हों, एवं आपने बहुत हिम्मत दिखाई और वीरप्पा मोइली साहब ने बहुत बड़ा फैसला करवाया। मैं इनका भी धन्यवाद करता हूं और मैं आपको इस मुबारक मौके पर, क्योंकि हमें सोनियाजी को सुनना है, हम तो राजस्थान भर में कांग्रेस संदेश यात्रा को लेकर निकले थे, तब हम आप लोगों से रूबरू हुए।

मुझे ज्यादा कुछ नहीं कहना है, मैं आपका यही आह्वान करूंगा कि सरकार की अनेक योजनाएं आई हैं, यूपीए गवर्नमेंट जब से आई है जो सोनिया गांधीजी खुद प्रधान मंत्री नहीं बनी, डॉ0 मनमोहन सिंहजी जैसे अर्थशास्त्री को प्रधान मंत्री बनाया। उनकी नीतियों का परिणाम है कि आज जो वित्तीय प्रबन्धन हुआ है देश के अंदर, प्रदेश के अंदर, आज 40,500 करोड़ रुपये का हमने बजट बनाया। उसके कारण से आज एक के बाद एक पानी की योजना हो, बिजली की योजना हो, शिक्षा की योजना हो, सड़क की बात हो, स्वास्थ्य सेवाएं हों और जो हमने फ्लैगशिप प्रोग्राम दिये हैं, सामाजिक सुरक्षा दी आप लोगों को, तो मैं इस मुबारक मौके पर आह्वान करना चाहूंगा, जो हमारे लाखों लोग यहां मौजूद हैं, मैं यह कहना चाहूंगा आप कृपा करके इन योजनाओं का लाभ उस गांव और गरीब तक पहुंचायें, जिसके लिये सोनिया गांधीजी हमेशा चिन्तित रहती हैं आम आदमी के लिये, गरीब के लिये, गांव के लिये। मैं आपको यही आह्वान करता हुआ अपनी बात समाप्त करता हूं और सोनिया गांधीजी से प्रार्थना करूंगा कि वह आये और हमें संदेश दें। सोनिया गांधीजी, पधारिये।
- - -


माननीय श्रीमती सोनिया गांधी का भाषण पचपदरा, बाड़मेर में रिफाइनरी का शिलान्यास
----

श्री अशोक गहलोत जी, श्री वीरप्पा मोइली जी, श्रीमती पनाबा लक्ष्मी जी, श्री गुरूदास कामत जी, डॉ0 चन्द्रभान जी, हरीश चौधरी, श्री राजेन्द्र पारीक, सांसद और विधायकगण, उपस्थित अधिकारीगण, अतिथिगण, बहनों और भाइयों। आप काफी समय से यहां इस गर्मी में इन्तजार कर रहे हैं। मैं आपकी आभारी हूं और आपको धन्यवाद देती हूं।

आज मुझे 37 हजार करोड़ की लागत और करीब 25 हजार रोजगार देने की इस रिफाइनरी एण्ड पेट्रो कैमिकल कॉम्पलैक्स का शिलान्यास करने का अवसर मिला है। यह रिफाइनरी कारखाना भारत का पहला ऐसा कारखाना होगा, जो देश में कच्चे तेल का शोधन करेगा। यह कारखाना विकास और खुशहाली की दिशा में क्रान्तिकारी कदम होगा। यह हमारे केन्द्र और राजस्थान सरकार के विकास के प्रति मजबूत इच्छा शक्ति का परिणाम है। इस रिफाइनरी की स्थापना से पेट्रो-कैमिकल्स, पेट्रो इंजीनियरिंग और इससे जुड़े अनेक नये उद्योग लगेंगे, जिससे न केवल आपके इलाके में बल्कि पूरे राजस्थान को फायदा मिलेगा और आपके जीवन में और अधिक प्रगति आयेगी।

भाइयों और बहनों, प्रधान मंत्री डॉ0 मनमोहन सिंहजी के नेतृत्व में हमारी यूपीए सरकार ने विकास की दिशा में तमाम ऐतिहासिक और क्रान्तिकारी कदम उठाये हैं। पिछड़े क्षेत्रों और पिछड़े तबकों का हमने ज्यादा ख्याल रखा है। इसके लिये कई महत्वपूर्ण कानून बनाये और योजनाएं भी शुरू की हैं। मिसाल के तौर पर जैसे कि आप सब जानते हैं महात्मा गांधी नरेगा, जिसके जरिये ग्रामीण क्षेत्रों में साल में 100 दिन के रोजगार की गारण्टी दी है। भ्रष्टाचार को मिटाने के लिये सूचना के अधिकार जैसा कानून बनाया है, जिसके जरिये कोई भी किसी भी सरकारी काम-काज के बारे में कानूनी तौर पर जानकारी हासिल कर सकता है। प्राइमरी स्कूलों के बच्चों को दोपहर का भोजन और 6 से 14 साल तक के सभी वर्गों के बच्चों को मुफ्त शिक्षा का अधिकार दिया है।

मेरी बहनें सशक्त हों और आत्मनिर्भर बनें, इसके लिये कई कानूनी अधिकार और स्वयं सहायता समूह के जरिये कम ब्याज पर कर्ज की सुविधा जैसी कुछ मिसालें हैं। हम सब जानते हैं कि हमारे देश में आज भी लोग कुपोषण और भूखमरी की चपेट में हैं। इसीलिये अभी हाल में हमने खाद्य सुरक्षा कानून लागू किया है। इससे देश के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के 80 करोड़ से भी ज्यादा लोगों को सस्ते दामों पर अनाज मिलेगा। हम सब जानते हैं कि पी.डी.एस. में भ्रष्टाचार की काफी गुजाइंश है। इससे बचाने के लिये इस कानून में पी.डी.एस. प्रणाली में महत्वपूर्ण सुधारों के प्रावधान शामिल किये गये हैं। उसको आधार कार्ड से जोड़ा गया है ताकि सही जरूरतमंदों को यह सुविधा अच्छी तरह से मिले।

मैंने संसद में कहा था कि कुछ लोग इस बिल के बारे में सवाल पूछते हैं कि क्या हमारे पास पैसे हैं, क्या यह किसानो के हित में है और मेरा जवाब यह था कि यह साधनों का सवाल नहीं है, साधनों को जुटाना ही पड़ेगा। जहां तक किसानों की बात है, मेरा जवाब यह है कि हमने हमेशा किसानों के हित में काम किया है। हमने कभी किसानों को नजरअंदाज नहीं किया और न ही कभी करेंगे। संसद सत्र के आखिरी दिन हमने अपने किसान भाइयों के हितों को सुरक्षित रखने के लिये भूमि सुधार अधिग्रहण कानून पास किया है। यह एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक कदम है। अब कोई भी किसान की जमीन को जबर्दस्ती छीन नहीं सकता और अगर जरूरत भी पड़े तो उनकी मर्जी से भरपूर मुआवजा देकर ही ले जा सकेगा।

हमारा पूरा प्रयास समाज के कमजोर तबको, पिछड़ों, दलितों, आदिवासियों और महिलाओं को सशक्त बनाने पर रहा है। हमने हमेशा इस बात का ध्यान रखा है कि समावेशी विकास हो और इस विकास का लाभ समाज के जरूरतमंद लोगों को मिले और यह तभी संभव है जब आपसी सद्भाव हो, भाईचारा हो, अमन-चैन का माहौल हो। समाज में तभी खुशहाली आती है जब सभी वर्गों के लोग मिल-जुलकर कंधे से कंधा मिलाकर चलें। यही हमारी सेक्युलर संस्कृति है और यही हमारे देश की बुनियाद है।
भाइयों और बहनों, हमारा काम जनता की सेवा है। हम यही कर रहे हैं। मैं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अनेक विकास योजनाओं को और सामाजिक सुरक्षा के प्रयासों की सराहना करती हूं। भोजन, आवास, स्वास्थ्य, शिक्षा, पानी, बिजलीघर जैसे सुविधाओं पर हमारी सरकार का खास ध्यान है। राजस्थान देश का पहला ऐसा राज्य है, जहां पर निःशुल्क स्वास्थ्य लाभ और दवा जनता को दे रहे हैं। इसी तरह अनेकों जनहित की नीतियों को लागू भी किया है, जिनका लाभ प्रदेश की जनता को मिल रहा है और मैं उम्मीद करता हूं कि आप सबके सहयोग से विकास का यह सिलसिला लगातार जारी रहेगा।

आज बाड़मेर में रिफाइनरी और पेट्रो कैमिकल कॉम्पलेक्स का शिलान्यास करते हुए मैं इतना कह सकती हूं कि इससे राजस्थान को बहुत रेवेन्यू मिलेगा, जिसका इस्तेमाल सरकार आम जनता और गरीबों के लिये कर सकेगी।

अन्त में, मैं आप सबको इस रिफाइनरी के लिये बधाई देती हूं। पेट्रोलियम मिनिस्टर श्री वीरप्पा मोइली और मुख्य मंत्री अशोक गहलोत, उनके मंत्रालय के अधिकारियों और कर्मचारियों को धन्यवाद देती हूं जिनके प्रयासों और मेहनत से यह काम हो रहा है। मुझे विश्वास है कि आने वाले दिनों में आपका यह क्षेत्र और आपका यह खूबसूरत प्रदेश प्रगति के पथ पर और अधिक आगे बढ़ेगा। लोगों की जिन्दगी में और अधिक खुशहाली आयेगी और इसके लिये हम पूरी तरह समर्पित हैं। पूरी तरह हमेशा उसके लिये समर्पित रहेंगे। आप सबको इस सभा में आने के लिये एक बार फिर दिल से बहुत बहुत धन्यवाद। जय हिन्द।
- - -

Best viewed in 1024X768 screen settings with IE8 or Higher