• http://www.facebook.com/AshokGehlot.Rajasthan
  • http://www.youtube.com/user/GehlotAshok

गांधीजी के स्वराज के सपने को पूरा करने के लिए पंचायती राज की शुरुआत -मुख्यमंत्री


जयपुर, 2 अक्टूबर। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के स्वराज के सपने को पूरा करने के लिए पण्डित जवाहरलाल नेहरू ने नागौर की धरती पर दीप प्रज्जवलित कर पंचायती राज की शुरुआत की थी। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी ने पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव के लिए अभिनव योगदान दिया।

मुख्यमंत्री आज गांधी जयन्ती के अवसर पर नागौर जिला मुख्यालय स्थित गांधी चौक में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा और पूर्व प्रधानमंत्री स्व. लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद उपस्थित समुदाय को सम्बोधित कर रहे थे।

श्री गहलोत ने कहा कि हमें गर्व है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी हमारे देश में पैदा हुए। अंग्रेजों से आजादी के लिए अहिंसात्मक आन्दोलन किया। विश्व की जनता के मानस पटल पर महात्मा गांधी आज भी जीवित हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति श्री बराक ओबामा ने कहा कि अगर मैं गांधी जी के समय होता तो उनके साथ रात्रि भोज अवश्य करता। मार्टिन लूथर किंग के कमरे में गांधीजी का चित्र लगा हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी हिंसा और नस्लभेद के खिलाफ थे। उन्होंने कहा कि सभी समस्याओं का समाधान अहिंसक ढंग एवं आपसी सद्भाव से हो सकता है। राज्य सरकार ने अहिंसक तरीके से राज्य में गुर्जर समस्या को हल किया। श्रीमती सोनिया गांधी के प्रस्ताव पर संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा महात्मा गांधी के जन्म दिवस को विश्व अहिंसा दिवस के रूप में प्रस्तावित किया गया।

मुख्यमंत्री ने बच्चों से कहा कि महात्मा गांधी की जीवनी ’’सत्य के साथ प्रयोग’’ को अवश्य पढ़ें। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और स्व. लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर शिक्षा मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल, सार्वजनिक निर्माण राज्यमंत्री श्री प्रमोद भाया, वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री श्री रामलाल जाट, परिवहन मंत्री श्री बृजकिशोर शर्मा, पंचायती राज मंत्री श्री भरतसिंह, सांसद डॉ. ज्योति मिर्धा, श्री गोपालसिंह ईड़वा ने भी पुष्पांजलि अर्पित की। इस अवसर पर सर्वधर्म प्रार्थना, रामधुन और महात्मा गांधी के प्रिय भजन प्रस्तुत किये गए।

मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने सभी को अहिंसा और शांति के लिए शपथ दिलाई। इस अवसर पर अनेक जन प्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, महिला, पुरुष व बच्चे भी उपस्थित थे।

Best viewed in 1024X768 screen settings with IE8 or Higher