• http://ashokgehlot.in/blog
  • http://www.facebook.com/AshokGehlot.Rajasthan
  • http://www.youtube.com/user/GehlotAshok

Talked to media at PCC

दिनांक
06/02/2019
स्थान
जयपुर


जहां तक कर्जा माफ़ी की बात है कल से हमारे तमाम जो मंत्रीमंडल के साथी है वो जिलो के अंदर जाएंगे और उसका शुभारम्भ करेंगे उसके बाद लगातार कैम्प बढ़ते जाएँगे, बढ़ते जाएंगे और तमाम जो हमने वादे किये थे कॉपरेटिव बैंक्स के और भूमि विकास बैंक के फर्स्ट फेज में वो तमाम कर्जे माफ़ होंगे और उसके बाद में जो कमर्शियल बैंक है और ग्रामीण बैंक्स हैं उनके साथ में हमारे अधिकारियों की बातचीत चल रही है क्योंकि कोई व्यापारी या कोई इंडस्ट्रियलिस्ट का जब NPA होता है तब भी बैंक वाले और सम्बन्धित पार्टी बैठ के बात करती है की कितना हम लोग ब्याज कम करे, कैसे मूल चुकाने की किश्तें करे? जो भी करना होगा वो कमर्शियल बैंको के साथ बातचीत करने के बाद फैसला होगा। दो लाख तक का हमने वादा किया है जिनके NPA हो चुके है उनके लिए इस प्रकार से कल से शुरुआत हो रही है और आप देखेंगे की टाइम बाउंड प्रोग्राम के अनुसार तमाम कैंप लगेगे और कॉपरेटिव बैंक और भूमि विकास बैंक के तमाम फसली ऋण जो है वो माफ़ कर दिए जाएँगे।
हमने कहा है की जो लोग पहले ऋण ले चुके है कई लोगो को जो अनुपातिक ऋण मिला था जो लघु व सीमांत नहीं थे उनको तो जो उनका बकाया है वो भी हम पूरा माफ़ करेंगे। लघु व सीमांत किसान के अलावा भी पिछली गवर्मेंट ने भी उनके लिए अनुपातिक कर्जा माफ़ करने की बात की थी कुछ एक अंश तक की थी, हम उसका पूरा माफ़ करेंगे। इस प्रकार से एक कर्जा माफ़ी का जो राहुल गांधी जी ने वादा किया था वो पूरी तरह से निभाने के लिए हमारी सरकार तैयार है और फैसला कर चुकी है और हम लोग कल से कैंप लगाना शुरू कर देंगे।
देखिए कांग्रेस की तीन राज्यों में विजय हुई है राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ के बाद में वो इतने बौखला गए है की पहले जुमले बोले थे चुनावी वादों के इस बार नए-नए जुमले बोले जा रहे है ये आप जो बोल रहे है ये भी एक जुमला है उसके अलावा कुछ भी नहीं है आप देखेंगे कि जो तैयारी कांग्रेस ने शुरू कर दी है राष्ट्रव्यापी दिल्ली के अंदर लोकसभा चुनाव को लेके उसमे कांग्रेस काफी आगे निकल चुकी है, हमारे केंडिडेट के सलेक्शन भी शुरू हो चुके है, हमारे केम्पेन जो क्या होना चाहिए वो शुरू हो गए है, राहुल गांधी जी के दौरे शुरू हो गए है तो ये जो बौखलाहट में जुमले बोलने लगे है तो कोई नई बात नहीं है। देश समझ चुका है जुमलो की राजनीति को इस बार जुमलो की राजनीति उनके लिए काम नहीं आएगी..
9 तारीख को तो पीसीसी प्रेसिडेंट और CLP लीडर की मीटिंग है पूरे देश के अंदर जो राज्य है उन सबकी मीटिंग बुलाई गई है वो भी लोकसभा की तैयारी के हिसाब से बुलाई गई है।

Best viewed in 1024X768 screen settings with IE8 or Higher