• http://www.facebook.com/AshokGehlot.Rajasthan
  • http://www.youtube.com/user/GehlotAshok

हॉस्पिटल रोड स्थित पीसीसी कार्यालय में मीडिया से वार्ता, जयपुर नवम्बर 29:

दिनांक
29/11/2022
स्थान
जयपुर


जैसा मैंने कहा आपको कि यात्रा का मैसेज बहुत शानदार है पूरे मुल्क में, यात्रा एक मार्ग से जा रही है, पर संदेश पूरे देश के हर राज्य के हर जिले के हर गांव में, हर घर में है क्योंकि मुद्दा वही है राहुल गांधी जी का जो अवाम के दिल के अंदर है, महंगाई की मार हो, कमर तोड़ चुकी है, बेरोजगारी बहुत भयंकर है और जो प्यार, मोहब्बत की राजनीति होनी चाहिए, तनाव नहीं होना चाहिए, हिंसा नहीं होनी चाहिए, ये मुद्दे आज पूरे देश के अंदर हैं और राहुल गांधी जी पूरे देशवासियों की भावनाओं को रीप्रजेंट करते हुए यात्रा निकाल रहे हैं, यात्रा में जिस प्रकार से देखा आपने कि भीड़ उमड़ पड़ी है, कोई कल्पना नहीं करता था, ये बीजेपी वाले तो इतने चिंतित हो गए हैं, इतने विचलित हो गए हैं, इसलिए वो कई तरह के आरोप लगा रहे हैं यात्रा पर भी लगा रहे हैं, मीडिया पर दबाव बना रहे हैं और माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं और मैं आपको कह सकता हूं कि राहुल जी जिस रूप में कारवां लेकर चल पड़े हैं और जो मैसेज दे रहे हैं जगह-जगह पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से भी, कॉर्नर मीटिंग के माध्यम से भी और पब्लिक मीटिंग के माध्यम से भी, मैं समझता हूं कि पूरे देश के अंदर एक नई आशा की किरण जागी है कि आने वाले वक्त के अंदर, यात्रा तो समाप्त हो जाएगी, मान लीजिए 2 हजार किलोमीटर पूरी हो गई है, डेढ़ हजार पूरी हो जाएगी, उसके बाद में भी ये जो माहौल बना है देश के अंदर, ये माहौल मैं समझता हूं कि देश के अंदर जो चुनौतियां हैं, जिस प्रकार का तनाव है, हिंसा का माहौल है, पत्रकार, साहित्यकार, लेखक जेलों में जा रहे हैं अगर असहमति व्यक्त कर दी है किसी ने, आलोचना कर दी है, इनसे सहन नहीं होती है, तो मुद्दा राहुल जी ने जो पकड़ा है, मैं समझता हूं कि उसको पूरे देश ने स्वीकार किया है, इसीलिए आज मोदी जी और अमित शाह जी जिस प्रकार से घूम रहे गुजरात के अंदर घर-घर में गांव-गांव में जो कहते हैं कि मोहल्ले-मोहल्ले में जा रहे हैं, इस प्रकार की यात्रा वहां क्यों हो रही है? आप समझ सकते हैं कि इतने घबराए हुए हैं, बौखलाए हुए हैं कि वहां पर भी किस प्रकार का माहौल बनाने की कोशिश की जा रही है, जो सफल नहीं हो रहे हैं वो लोग क्योंकि राहुल गांधी की यात्रा का इतना बड़ा संदेश शानदार है, वो वहां पर जिस प्रकार भड़का रहे हैं, प्रोवोक कर रहे हैं, वो कोई प्रोवोकेशन में नहीं आ रहे हैं उनके, अभी जो अमित शाह जी बोले हैं 2-3 दिन पहले, मैं उनको वापस रिपीट नहीं करना चाहूंगा वापस उनके शब्दों को, 'हमने सबक सिखा दिया', वो चाहते हैं कि प्रोवोक ये लोग हों और वो उसका फायदा उठाएं, मैं समझता हूं कि देश समझ गया है, प्रदेश समझ गया है, सब लोग समझ गए हैं और चौंकाने वाले परिणाम आ सकते हैं गुजरात के अंदर भी, अभी हमारी मीटिंग हुई है, सबने मिलकर बातचीत की है और राजस्थान में सब एकजुट हैं, मैंने आपको कहा, कल राहुल गांधी जी ने कहा कि दोनों सम्मानित नेता हैं, सम्मानित नेता हैं, यही कहा है? एसेट हैं, तो अशोक गहलोत और सचिन पायलट एसेट हैं, हमारी पार्टी में खूबी है कि जब नंबर 1 कह देता है कोई बात, नंबर 2 कह देता है, नंबर 3 कह देता है और ये हमारे नंबर 1, 2, 3 हैं ही नहीं, जब खड़गे साहब अध्यक्ष बन गए हैं, तो सोनिया जी और राहुल जी, उनका नेचर हम जानते हैं कि किस प्रकार से वो प्रोटोकॉल निभाना जानते हैं, जब राहुल जी ने ये बात कह दी है, तो हमारी पार्टी की बहुत बड़ी खासियत रही है कि हमेशा जब संदेश नेता का आता है, तो नीचे तक सब मिलकर राजनीति करते हैं, मिलकर काम करते हैं और पार्टी के हित में क्या हो सकता है, उस पर हम लोग आगे बढ़ते हैं, तो मैं आपको कह सकता हूं कि राजस्थान के अंदर भी हमारी चुनौती है अगला चुनाव 2023 का और चुनाव जीतना हमारे लिए बहुत आवश्यक है, देशहित के अंदर है, कांग्रेस अगर मजबूत होगी देश के अंदर, तो ही मैं समझता हूं कि देश का फ्यूचर बना रहेगा, मजबूत रहेगा क्योंकि जो चुनौतियां हैं देश के सामने, जिसके लिए इंदिरा गांधी जी ने जान दे दी, पर देश एक रखा, अखंड रखा, राजीव गांधी शहीद हो गए शांति स्थापित करने के प्रयास के अंदर, तो ये तमाम बातें हमारे ज़ेहन के अंदर हैं, हमारे लिए पार्टी सर्वोपरि है, हम चाहेंगे कि पार्टी का जो कारवां चल पड़ा है राहुल जी के साथ में, आगे बढ़े, देश के अंदर कांग्रेस का रुतबा जो था पहले, वो पुनः कायम होगा क्योंकि कांग्रेस का और देश का डीएनए एक है, उसी रूप में ये जो ताकतें हैं फासिस्टी, जिनका कोई यकीन नहीं है लोकतंत्र में, वो लोकतंत्र का चेहरा पहनकर मुखौटा पहनकर राजनीति कर रहे हैं, उनको एक्सपोज करने का काम भी यात्रा के बाद में हम लोग मिलकर करेंगे, धन्यवाद।

Best viewed in 1024X768 screen settings with IE8 or Higher