• http://ashokgehlot.in/blog
  • http://www.facebook.com/AshokGehlot.Rajasthan
  • http://www.youtube.com/user/GehlotAshok

बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय की पांच दिवसीय कार्यशाला कोरोना ने जीवन के प्रति हमारी सोच बदली —मुख्यमंत्री

दिनांक
26/06/2020
स्थान
जयपुर


जयपुर, 26 जून। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना महामारी ने जीवन के प्रति हमारी सोच को बदला है। इसने भौतिकतावाद की ओर तेजी से बढ़ रहे हमारे कदमों को थामा है। यह उचित समय है कि हम ऎसे विषयों पर चर्चा करें जिनसे सुखी और समृद्ध जीवन की तरफ बढ़ा जा सके। जब तक हम आदर्श जीवन मूल्यों को नहीं अपनाएंगे, हमारा जीवन खुशहाल नहीं हो सकता। ऎसे में जरूरी है कि विद्यार्थियों को शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ उनका चरित्र निर्माण भी हो।

श्री गहलोत शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय द्वारा सुखी एवं समृद्ध जीवन विषयक पांच दिवसीय कार्यशाला में ई-प्रमाण पत्र वितरण समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी की चुनौती को हमने अवसर के रूप में लेते हुए हैल्थ सेक्टर को मजबूत किया है। इसी तरह के नवाचार हर क्षेत्र में किए जाएं। उन्होंने कहा कि आज अर्थव्यवस्था बेहद नाजुक दौर में है। लोगों की आजीविका प्रभावित हुई है। हमें यह सोचना है कि जरूरतमंद लोगों को किस तरह संबल दिया जाए। इस दिशा में ऎसी कार्यशालाएं महत्वपूर्ण साबित हो सकती हैं। साथ ही, ऎसे समय में लोगों को जागरूक करने में शिक्षाविदों, लेखकों एवं पत्रकारों की बड़ी भूमिका है।

तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि संकट की इस घड़ी में राजस्थान ने गवर्नेंस का नया मॉडल पेश करते हुए लोकतंत्र में लोगों की आशाओं को पूरा करने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि सुखी और समृद्ध जीवन की अवधारणा की शुरूआत शिक्षण संस्थानों से ही होनी चाहिए। शिक्षक स्वयं इसकी पालना करेंगे, तो विद्यार्थी भी इसके लिए प्रेरित होंगे। उन्होंने कहा कि कोटा एवं बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय सम्बद्ध कॉलेजों के विकास में अपनी भूमिका निभाएं।

उच्च शिक्षा राज्य मंत्री श्री भंवरसिंह भाटी ने कहा कि कॉलेज शिक्षा से जुड़े विद्यार्थियों ने कोरोना के दौरान सेवाभाव के साथ काम किया है। उन्होंने कहा कि हमारी शिक्षा मानवीय मूल्यों से प्रेरित हो और तकनीकी ज्ञान का मानव समाज के लिए उपयोग हो। हम ऎसी तकनीक खोजें, जिनसे पर्यावरण का नुकसान नहीं हो।

बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति श्री एचडी चारण ने स्वागत सम्बोधन देते हुए कहा कि विश्वविद्यालय में सुखी और समृद्ध जीवनशैली के लिए आनंदम कोर्स प्रारम्भ करने की तैयारी की गई है। शासन सचिव उच्च शिक्षा शुचि शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री डीबी गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त श्री निरंजन आर्य, प्रमुख शासन सचिव सूचना एवं प्रौद्योगिकी श्री अभय कुमार, कॉलेज शिक्षा आयुक्त श्री प्रदीप कुमार बोरड़ तथा सूचना एवं जनसम्पर्क आयुक्त श्री महेन्द्र सोनी भी उपस्थित थे।

----

Best viewed in 1024X768 screen settings with IE8 or Higher